आई डब्लू एम बज्ज़. कॉम ने कलर्स की सिद्धार्थ कुमार तिवारी की स्वस्तिक प्रोडक्शन्स द्वारा प्रोड्यूस तंत्र की समीक्षा की।

कलर्स के सीरियल तंत्र की समीक्षा: काले जादू पर आधारित एक भयानक कहानी

अलौकिक शो आज प्रवृत्ति में हैं!

कलर्स के शो नागिन की सफलता के बाद मेकर्स और राइटर्स इस शो को सफल करना चाहते है।

कलर्स का नया शो तंत्र सिद्धार्थ कुमार तिवारी द्वारा प्रोड्यूस एक परिवार की कहानी है जो भय के चंगुल का शिकार हो गया है। खन्ना परिवार अपने सपनों के घर में रहने जाता है जहा वो काला जादू का शिकार हो जाता है। ये घर ही खुद विरोधी है जिसके भयानक प्रभाव के कारण वहा रेहन वालो के लिए वो एक बुरा सपना होगा।

शो एक रहस्य से भरी कहानी है जहा परिवार का ड्रामा , कई छिपे हुए रहस्य, काला जादू सब होगा। इस अलौकिक कहानी में टीवी के कई बड़े एक्टर्स जैसे मनीष गोयल और जूही परमार शामिल है जो शो में पृथ्वी और सुमति खन्ना का किरदार निभा रहे है। शो के कास्ट में नयन भट्ट, फरीदा दादी, पायल भोजवानी, सरगुन कौर, गौतम विग, कनान मल्होत्रा, मनीषा खेटवानी, हर्ष वशिष्ट, गौरी टोंक, मेघान जाधव और समीक्षा भी शामिल है।

कलर्स ने एक अनोखी दिलचस्प और काले जादू पर आधारित कहानी लाई है। ये दूसरा उदहारण है उनके नवीनता कहानी को लाकर उनके दर्शकों को अच्छे और सम्मोहक शो देने की।

शो की शुरुआत एक दहला देने वाले क्षण से होती है। जहा दो आदमी खन्ना परिवार के सपनों के घर में प्रवेश करते है। और जैसे ही वो घर में प्रवेश करते है वैसे ही भयानक चीज़े होने लगी घर में। और वही वो दोनों फस जाते है और फिर उनकी मृत्यु हो जाती है।

इस के बाद, नियति(सरगुन कौर) को अपने कॉलेज में साइकिलिंग स्पर्धा में भाग लेते हुए दिखाया जाता है। और वो जीत जाती है। इस स्पर्धा के दौरान सभी परिवार वाले इसे टीवी पर देख रहे होते है क्योंकि वो इस स्पर्धा को लाईव टीवी पर देख रहे होते है, उसी क्षण परिवार के सभी सदस्यों का परिचय होता है। इस पूरे सीन के दौरान सुमति(जूही परमार) अपनी बेटी के लिए कुछ अजीब बर्ताव करती नजर आती है। और फिर नियति ट्रॉफी जीत कर उसका पूरा श्रेय अपनी मां को देती है। सभी किरदार एक महत्वपूर्ण किरदार निभा रहे है और सभी का इस परिचय वाले सीन में अपना प्रभाव था।

उसके बाद शू अक्षत(गौतम विग) का परिचय होता है। अक्षत और नियति की दोस्ती दर्शकों को खूब अच्छी थी। पहले एपिसोड का अंत सपनों के घर में दो व्यक्ति के खून से समाप्त होता है। अक्षत भी नियति से कहता है कि गाजर में कुछ तो अजीब है लेकिन वो इससे मानने से इंकार कर देती है।

हमारे विचार के अनुसार:

शो ने अपने पहले एपिसोड से दर्शकों को शो से जोड़े रखा है। सीरीज में थोड़ी एसी चीज़े थी जो निराशाजनक थी। वो स्पर्धा जहा नियति को उसकी प्रतिस्पर्धी द्वारा धका दिया जाता है ताकि वो हार जाए ये कई बार हुआ है। अक्षत जब एक लड़की से दिल की बात कहता रहता है तो नियति वहा आकर एसे व्यवहार करती है जैसे वो उसकी गर्लफ्रेंड हो। ये भी वो सीन है जिसे दर्शकों ने कई बॉलीवुड फिल्मों में देखा है। मां बेटी के बीच का ये अजीब रिश्ता थोड़ा रहस्यमय है। ये डरावनी कहानी दर्शकों को काफी मनोरंजन देगी।

जूही परमार सुमति के किरदार में काफी सुंदर लग रही है। मनीष गोयल भी काफी अच्छे लग रहे है। सरगुन कौर अपना किरदार काफी अच्छे से निभा रही है, और हम उन्हें आगे और भी अच्छा एक्टर बनते हुए देखना चाहेंगे। गौतम विग भी अपना किरदार अच्छे से निभा रहे है।

तंत्र ने काफी अच्छी शुरुआत की है। हम आई डब्लू एम बज्ज़ पर उस ३/५ रेट करते है।

Also Read

Latest stories