आई डब्लू एम बज्ज.कॉम ने सोनी टीवी के नए शो लेडीज स्पेशल की समीक्षा की

सोनी टीवी के सीरियल लेडीज स्पेशल की समीक्षा: काफी संबंधित और दिल जीतने वाली कहानी

मुंबई की लोकल ट्रेन नेटवर्क इस चमकी हुई नगर की जान है, जो लोगो की यात्रा को आसान बनाता है। कई लोग अपने यात्रा की समय बचाने कि भी सोचते है। किसी भी मुंबईकर से पूछिए तो वो आपको वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर लगे जाम की डरावनी कहानी सुनाएगा। तो अगर आपको असल मुंबई देखनी है तो लोकल ट्रेन सबसे अच्छा विकल्प है। आपको हर प्रकार का व्यक्ति मिलेगा वहा पर।

हम आपको मुंबई की लोकल ट्रेन की ज्ञान क्यों दे रहे है? इसलिए क्योंकि लोकल ट्रेन सोनी टीवी के नए शो लेडीज स्पेशल सीज़न दूसरा का महत्वपूर्ण हिस्सा है। विरार से चर्चगेट कि लोकल ट्रेन इन तीनो पात्र की मिलने की जगह है।

वो तीनो एक दूसरे से रविवार को मिलते है आखरी स्टेशन पर जहा तीनो एक ही शादी में जा रहे होते है(टीवी में बहुत इतिफाक होते हैं)।

मिलिए प्यारी महाराष्ट्रीयन हाउसवाइफ, मेघा निकादे(गिरिजा औक) जो अपने पत्नी को उसके स्वार्थी बॉस को छोड़ कर अपने साथ हाथ बटाने को कहती है। वो काफी स्मार्ट है उसे पता है पड़ोसियों से और बच्चो से कैसे बर्ताव किया जाता है। फिर आती है बिहारी बोलने वाली प्रार्थना कश्यप ( छवि पांडेय) जो तीस साल की होने वाली है लेकिन अभी तक शादी नहीं कर पाई है, वी अकेले अपना पूरा घर चलाती है। अपने जीवन से निराश हो गई है। घर का मालिक जो उससे बड़ा है उसे शादी का प्रस्ताव देता है उसका दुख काम करने के लिए , लेकिन वो उस मना करके घर खाली करना सही समझती है।

प्रार्थना के जीवन में अभी एक लड़का विराज(साहिल छाढ़ा) आया है जो मोबाइल कंपनी जहा ये काम करती है उससे जूनियर है। जैसा कि हमेशा होता है उनकी शुरुआत बुरी होती है, वापस लोकल ट्रेन में(वो गलती से लेडीज स्पेशल में आ जाता है)।

और फिर है बातूनी बिंदु देसाई(बिजल जोशी) जिसकी अभी अभी डॉक्टर अमर देसाई(ओजस रावल) से शादी हुई है, जो किसी और से प्यार करते है जो है कंगना राजावत (जिया मुस्तफा)। बिदू पीछे हट जाने का सोचती है और उसके पति को उसके पहले प्यार इंतज़ार करने के लिए छोड़ देती है।

गतिशीलता के भाग के रूप में, क्रिएटिव ने दूसरी औरत को बहुत स्वार्थी बताया है। हॉस्पिटल के ऑपरेशन रूम में ड्रिंकिंग पार्टी नियम के विरूद्ध है और मरीज के लिए भी खतरे की बात है। तत्व के रूप में, यही लेडीज स्पेशल की मूल्य कहानी है।

सीज़न १ की तरह औरतों का आपस का संबंध इस कहानी में महत्वपूर्ण है। और बिंदु मेघा को उसके परालिज्ड ससुर को हॉस्पिटल में भर्ती कराने में मदद करती है जहा उसके पति काम करते है। जल्द ही प्रार्थना भी इससे जुड़ेगी।

हमे अभी तक शो काफी अच्छा लगा है, सारे किरदार वास्तविक लग रहे है। हम मुंबईकर रोज एसे कितनों से मिलते है।

छवि ने साहसी प्रार्थना का किरदार निभाया है – उनका किरदार एक विनम्र मामूली औरत की तरह नहीं है, वो दिल की काफी अच्छी है। उनसे अपने भाई जो किसी काम के लिए अच्छा नहीं है उसके साथ दिल से दिल का वार्तालाप था जो ये दर्शा रहा था कि एक सिंगल लड़की के लिए मुंबई में इतना कठिन होता है।

बिजल भी काफी अच्छा कर रहे है लेकिन उनके किरदार में कुछ नया नहीं है। हम उम्मीद करते है कि इस गुजराती टेल में आगे कोई मोड़ जरूर होगा।

गिरिजा औक काफी अच्छा किरदार निभा रही है उनका किरदार काफी संबंधित है।

क्रिएटिवस ने भाषा, कपड़े सबका बड़े अच्छे से ध्यान रखा है ताकि वो जहा से है वो उन पर सूट करे।

एक और सकारात्मक बात ये है कि मर्दों को गलत नहीं दिखाया गया है – मंदार अपनी बीवी के साथ कदम से कदम मिला कर काम करने और सपने पूरे करने के लिए तैयार है। डॉक्टर अमर को भी पता है वो गलत कर रहे और वो भी अपनी पत्नी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाते है, दूसरे टीवी के पतियो की तरह।

हम ये मान सकते है कि लेडीज स्पेशल एसा शो है जिसकी हम जरूर प्रशंसा करेंगे, क्योंकि इस शो में मुंबई की असल ज़िन्दगी को दिखाया गया है।

हम उम्मीद करते है कि सीज़न १ की तरह इसकी कहानी भी काफी अलग और अच्छी होगी और इसमें सास बहू का वो ड्रामा नहीं दिखाया जाएगा।

हम आई डब्लू एम बज्ज. कॉम पर इस शो को ५ में से ३.५ देते है।

Also Read

Latest stories