तारक मेहता का उल्टा चश्मा में बबिता ने मेनका बन किया अय्यर की तपस्या को भंग?

तारक मेहता का उल्टा चश्मा: बबिता ने मेनका बन किया अय्यर की तपस्या को भंग?

अक्टूबर १९, २०२०: नीला फिल्म प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड प्रस्तुत तारक मेहता का उल्टा चश्मा की गोकुलधाम सोसाइटी कोरोना वाइरस का इलाज जल्द से जल्द मिल जाये इसिलए प्राथना कर रहा है| सभी रहिवासी लॉकडाउन से तंग आ चुके है| हर एक गोकुलधामवासी अपनी बिगड़ी हुई दिनचर्या को लेकर परेशान हो चूका है| वही अय्यर इस बात से हैरान हैं कि दुनिया में विज्ञान ने इतनी तरक्की करने के बावजूद भी वैक्सीन नहीं खोज पा रहे है| इसपर वह अखंड तपस्या करने का निर्णय लेते है और तय करते है कि जब तक उन्हें इस बीमारी का हल नहीं मिलता वह अखंड ध्यान करेंगे|

वह अपनी पत्नी बबीता को अपने यह विचार के बारे में बताते है और उनसे यह विनंती करते है कि उन्हें कोई भी परेशान ना करे| पिछले कुछ दिनों से बबीता, अय्यर की परेशानी दिन ब दिन बढ़ती हुई महसूस कर रही है| पिछले ६-७ महीनो से अधिक काल वह घर पर ही है और इसीकारण उनका तनाव बढ़ते ही जा रहा है और नतीजन इसका असर उनके मानसिक स्वास्थ्य पर हो रहा है| उनकी तपस्या का कारण जान बबिता पूरी तरह हैरान हो जाती है| बबिता उन्हें समझाने की कोशिश करती है पर अय्यर अपनी पत्नी की बात को अनसुनी कर अपने निर्णय पर अडे रहते है| वह उन्हें समझाती है कि ऐसे भूखे-प्यासे रहकर कोई उपाय नहीं निकलगा बल्कि इससे उन्हें शारीरिक पीड़ा हो सकती है|

अपने निर्णय पर अय्यर को दृढ़ होते हुए देख बबिता उनसे बेहेस करना छोड़ देती है| पर फिर अय्यर को पूरा दिन बिना हिले एक ही स्थान में धयान करते देख उनकी चिंता बढ़ जाती है| बिना खाना खाये या आराम करे अगर अय्यर ऐसी ही लगे रहे तोह उनका स्वास्थ्य ख़राब होने कि चिंता से वह डर जाती है और मेनका के रूप में विश्वामित्र बने अय्यर की एकाग्रता तोड़ने का प्रयास करती है|

क्या होगा अय्यर का ध्यान खंडित ? क्या होगी बबिता अपने प्रयास में सफल ? जानने के लिए देखते रहिये नीला फिल्म प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड प्रस्तुत तारक मेहता का उल्टा चष्मा सोमवार से शुक्रवार रात ८:३० बजे सिर्फ सब टीवी पर|

Also Read

Latest stories